आज अयोध्या की गलियों में (Aaj Ayodhya Ki Galiyon Mein Lyrics)

आज अयोध्या की गलियों में (Aaj Ayodhya Ki Galiyon Mein Lyrics)

इस Post में आपको आज अयोध्या की गलियों में (Aaj Ayodhya Ki Galiyon Mein Lyrics) का हिंदी में Lyrics दिया जा रहा है और उम्मीद करता हूँ कि आज अयोध्या की गलियों में (Aaj Ayodhya Ki Galiyon Mein Lyrics) आपके लिए जरूर उपयोगी साबित होगा | BhajanRas Blog पे आपको सभी देवी देवताओ की आरतिया,चालीसा, व्रत कथा, नए पुराने भजन, प्रसिद्ध भजन और कथाये ,पूजन विधि, उनका महत्व, उनकी व्रत कथाये BhajanRas.com पे आप हिंदी में Lyrics पढ़ सकते हो।

आज अयोध्या की गलियों में घूमे जोगी मतवाला

 

आज अयोध्या की गलियों में घूमे जोगी मतवाला,
अलख निरजंन खड़ा पुकारे देलूँगा दशरथ लाला,

शैली श्रृंगी लिये हाथ में और डमरू त्रिशूल लिये,
छमक छमाछम नाचै जोगी दरस की मन में चाह लिये,
पग में घुघरू छम-छम बाजै, कर में जपते है माला,

अंग भभूत रमाये जोगी, वाघम्बर कटि में सोहै,
जटाजूट में गंग विराजै, भक्तन के मन को मोहे,
मस्तक पर श्री चन्द्र विराजे, गले मे सर्पो की माला,

राजद्वार पर खड़ा पुकारे, बोलत है मधुरी बानी,
अपने सुत को दिखादे मैया, ये जोगी मन में ठानी,
लाख हटाओ पर ना मानूं, देखूगा दशरथ लाला,

मात कौशिल्या द्वार पे आई, अपने सुत को गोद लिये,
अति विभोर हो शिव जोगी ने, बालरूप के दरस किये,
चले सुमिरते राम नाम को, कैलासी काशी वाला,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *