सजा दो घर को गुलशन सा मेरे भोलेनाथ – Saja Do Ghar Ko Gulshan Sa Mere Bholenath aaye Hai Lyrics

सजा दो घर को गुलशन सा मेरे भोलेनाथ  – Saja Do Ghar Ko Gulshan Sa Mere Bholenath aaye Hai Lyrics

इस Post में आपको सजा दो घर को गुलशन सा मेरे भोलेनाथ – Saja Do Ghar Ko Gulshan Sa Mere Bholenath aaye Hai Lyrics का हिंदी में Lyrics दिया जा रहा है और उम्मीद करता हूँ कि सजा दो घर को गुलशन सा मेरे भोलेनाथ – Saja Do Ghar Ko Gulshan Sa Mere Bholenath aaye Hai Lyrics आपके लिए जरूर उपयोगी साबित होगा | BhajanRas Blog पे आपको सभी देवी देवताओ की आरतिया,चालीसा, व्रत कथा, नए पुराने भजन, प्रसिद्ध भजन और कथाये ,पूजन विधि, उनका महत्व, उनकी व्रत कथाये BhajanRas.com पे आप हिंदी में Lyrics पढ़ सकते हो।

सजा दो घर को गुलशन सा मेरे भोलेनाथ आये है –
Saja Do Ghar Ko Gulshan Sa Mere Bholenath aaye Hai

सजा दो घर को गुलशन सा
मेरे भोलेनाथ आये है
लगी कुटिया भी दुल्हन सी
मेरे भोलेनाथ आये है
पखारो इनके चरणों को
बहाकर प्रेम की गंगा
बिछा दो अपनी पलकों को
मेरे भोलेनाथ आये है
उमड़ आयी मेरी आँखे
देखकर अपने बाबा को
हुयी रोशन मेरी गलिया
मेरे भोलेनाथ आये है
तुम आकर फिर नही जाना
मेरी इस सुनी दुनिया से
कहू हरदम यही सबसे
मेरे भोलेनाथ आये है
लगी कुटिया भी दुल्हन सी
मेरे भोलेनाथ आये है
सजा दो घर को गुलशन सा 
मेरे भोलेनाथ आये है 

Aryan Sharma

आर्यन शर्मा भजन रस में पौराणिक ऐतिहासिक विभाग का नेतृत्व करते हैं। दिल्ली के रहने वाले आर्यन ने माखनलाल चतुर्वेदी कॉलेज से पोस्ट ग्रेजुएशन किया है। पौराणिक इतिहास की दुनिया में देखने वाले आर्यन को चक्र में करीब चार साल का अनुभव रखते हैं।