सनातन धर्म क्या है (Sanatan Dharm Kya Hai) जानिए इस शब्द का व्यापक मतलब

सनातन धर्म क्या है (Sanatan Dharm Kya Hai)  जानिए इस शब्द का व्यापक मतलब

इस Post में आपको सनातन धर्म क्या है (Sanatan Dharm Kya Hai) जानिए इस शब्द का व्यापक मतलब का हिंदी में Lyrics दिया जा रहा है और उम्मीद करता हूँ कि सनातन धर्म क्या है (Sanatan Dharm Kya Hai) जानिए इस शब्द का व्यापक मतलब आपके लिए जरूर उपयोगी साबित होगा | BhajanRas Blog पे आपको सभी देवी देवताओ की आरतिया,चालीसा, व्रत कथा, नए पुराने भजन, प्रसिद्ध भजन और कथाये ,पूजन विधि, उनका महत्व, उनकी व्रत कथाये BhajanRas.com पे आप हिंदी में Lyrics पढ़ सकते हो।

सनातन धर्म: जानिए इस शब्द का व्यापक मतलब

सनातन धर्म भारतीय संस्कृति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसे अपने हिंदू धर्म के वैकल्पिक नाम से भी जाना जाता है। सनातन धर्म का अर्थ है ‘शाश्वत या हमेशा बना रहने वाला’। इस शब्द का उपयोग वैदिक काल से होता आया है। वैदिक काल में भारतीय उपमहाद्वीप के धर्म के लिये ‘सनातन धर्म’ नाम मिलता है।

सनातन धर्म दुनिया के सबसे पुराने धर्मों में से एक है। यह धर्म भारतीय उपमहाद्वीप के विभिन्न क्षेत्रों में विभिन्न नामों से जाना जाता है जैसे हिंदू धर्म, सनातन धर्म और वैदिक धर्म। इस धर्म का मूल उद्देश्य व्यक्ति को उसके जीवन के उद्देश्य के संबंध में जागरूक करना है।

सनातन धर्म का अर्थ है क्या?- Sanatan Dharm Ka Arth Kya Hai

जब हम सनातन शब्द सुनते हैं, तो हमारे मन में एक ऐसी छवि आती है जो सदा से चली आ रही हो। सनातन शब्द का अर्थ है शाश्वत या हमेशा बना रहने वाला। इसका अर्थ है कि यह धर्म अनवरत, निरंतर और अविनाशी है।

इस धर्म को हिंदू धर्म के वैकल्पिक नाम के रूप में भी जाना जाता है। वैदिक काल में भारतीय उपमहाद्वीप के धर्म के लिए ‘सनातन धर्म’ नाम मिलता है। यह धर्म भारतीय संस्कृति और अध्यात्म का प्रतिनिधित्व करता है।

सनातन धर्म के अनुयायी इसे सभी धर्मों के मूल और आधार के रूप में मानते हैं। इसके अनुयायी इसे एक विश्व धर्म के रूप में भी देखते हैं।

सनातन धर्म क्या है? -Sanatan Dharm Kya Hai

सनातन धर्म जिसे हिन्दू धर्म अथवा वैदिक धर्म भी कहा जाता है, यह एक प्राचीन धर्म है जो भारतीय उपमहाद्वीप में उत्पन्न हुआ था। इस धर्म को सनातन धर्म कहा जाता है क्योंकि इसकी शुरुआत बहुत समय पहले हुई थी और यह दुनिया के सभी धर्मों में सबसे पुराना धर्म है।

इस धर्म के अनुयायी सदा सत्य को जीवन का आधार मानते हैं। इस धर्म के अनुसार सत्य, अहिंसा, त्याग, धर्म, अर्थ और काम ये छह मूल्य होते हैं। इन मूल्यों का पालन करना इस धर्म के अनुयायियों का धर्म होता है।

सनातन धर्म के अनुयायी ईश्वर को एकमात्र सत्य मानते हैं और उन्हें ईश्वर को प्राप्त करने के लिए जीवन का उद्देश्य मानते हैं। इस धर्म के अनुसार ईश्वर सभी जीवों का पिता है और सभी जीवों को उनके अधिकारों के अनुसार जीने का अधिकार होता है।

सनातन धर्म के मूल सिद्धांत- Sanatan Dharm Ka Mool Siddhant

धर्म और दर्शन

सनातन धर्म एक व्यापक धर्म है जो विभिन्न दर्शनों और अनुभवों को समाहित करता है। यह धर्म व्यक्ति के जीवन में उपयोगी मूल्यों को समझने और उन्हें अपनाने की शिक्षा देता है। इसके अनुसार, धर्म और दर्शन एक व्यक्ति के जीवन में उपयोगी और सफल बनाने के लिए आवश्यक होते हैं।

कर्म और धर्म

सनातन धर्म में कर्म और धर्म का गहरा संबंध है। इसके अनुसार, एक व्यक्ति को अपने कर्मों के आधार पर धर्म का पालन करना चाहिए। यह धर्म के मूल सिद्धांत में से एक है।

आत्मा और परमात्मा

सनातन धर्म में आत्मा और परमात्मा के बीच एक गहरा संबंध है। इसके अनुसार, आत्मा और परमात्मा एक हैं और इस बात को समझना बहुत आवश्यक है। सनातन धर्म के अनुयायी इस बात को मानते हैं कि आत्मा अविनाशी है और यह शरीर के बाद भी आगे जीवित रहता है।

मुक्ति का सिद्धांत

सनातन धर्म में मुक्ति का सिद्धांत बहुत महत्वपूर्ण है। इसके अनुसार, मुक्ति एक व्यक्ति के जीवन का उद्देश्य होता है। सनातन धर्म के अनुयायी इस बात को मानते हैं कि मुक्ति अविनाशी होती है और इसे प्राप्त करने के लिए उन्हें धर्म का पालन करना चाहिए

सनातन धर्म के तत्व – Sanatan Dharm Ke Tatva

जीव

सनातन धर्म में जीव अनन्त और अमर होता है। हम जीवों को अपनी आत्मा से जानते हैं और आत्मा अमर होती है। जीव और आत्मा की एकता के अनुसार, सभी जीव एक ही आत्मा से बने हुए होते हैं। जीवों का जीवन संसार के चक्र में चलता रहता है, जिसमें जन्म, मृत्यु, और पुनर्जन्म शामिल होते हैं। जीवों का उद्देश्य मोक्ष होता है, जो आत्मा का मुक्ति स्थान होता है।

ईश्वर

सनातन धर्म में ईश्वर अनंत और सर्वव्यापी होता है। ईश्वर सभी जीवों का पालन-पोषण करता है और सभी जीवों के प्रति प्रेम करता है। ईश्वर की पूजा और भक्ति से हम ईश्वर के पास जाने की कोशिश करते हैं। ईश्वर के अनेक नाम होते हैं, जो उसकी विभिन्न गुणों को दर्शाते हैं।

जगत

सनातन धर्म में जगत अनंत होता है और सभी जीवों के लिए एक स्थान होता है। जगत में चार युग होते हैं, जिनमें सत्य युग सबसे पवित्र होता है। जगत में सभी जीव एक दूसरे से जुड़े होते हैं और सभी का एक-दूसरे के साथ संबंध होता है। जगत में वेद, पुराण, और उपनिषद जैसी अनेक पवित्र ग्रंथ होते हैं, जो सनातन धर्म की शिक्षाओं को दर्शाते हैं।

ब्रह्म

सनातन धर्म में ब्रह्म एक महत्वपूर्ण तत्व है। यह तत्व अनंत, अविनाशी, अचल, अद्वितीय, अव्यक्त, अविकारी और अखंडता का प्रतिनिधित्व करता है। ब्रह्म जीवों का उत्पत्ति से पूर्व था और सभी जीव इससे उत्पन्न होते हैं। ब्रह्म का ज्ञान सभी वेदों में दिया गया है।

अखंडता

सनातन धर्म के अनुसार, सभी जीव एक ही ब्रह्म के अंश हैं और इसलिए सभी में एकता होती है। इसलिए, सभी जीवों को समानता से देखा जाना चाहिए। इसके अलावा, सभी जीवों का अखंडता में एकता होती है और इसलिए सभी की एक ही बात कही जाती है।

कर्म

सनातन धर्म में कर्म एक महत्वपूर्ण तत्व है। यह तत्व बताता है कि हमारे कर्म हमारे भविष्य को निर्धारित करते हैं। यदि हम अच्छे कर्म करते हैं तो हमारा भविष्य अच्छा होगा और यदि हम बुरे कर्म करते हैं तो हमारा भविष्य बुरा होगा। कर्म की श्रेणी तीन होती हैं: सत्त्विक, राजसिक और तामसिक।

धर्म

सनातन धर्म में धर्म एक महत्वपूर्ण तत्व है। यह तत्व बताता है कि हमें अपने जीवन में धर्म का पालन करना चाहिए। धर्म का पालन हमें सही और गलत के बीच अंतर करने में मदद करता है।

सनातन धर्म के प्रमुख शाखाएं -Sanatan Dharm Ke Pramukh Shakhayen

वैष्णव

वैष्णव शाखा सनातन धर्म की एक प्रमुख शाखा है। इस शाखा के अनुयायी भगवान विष्णु के अवतारों को अपने ईश्वर के रूप में मानते हैं। इनमें श्री कृष्ण और राम भी शामिल हैं। इस शाखा के अनुयायी विष्णु के भक्त होते हैं और उन्हें भक्ति और शरणागति की शिक्षा दी जाती है।

शैव

शैव शाखा सनातन धर्म की एक और प्रमुख शाखा है। इस शाखा के अनुयायी भगवान शिव को अपने ईश्वर के रूप में मानते हैं। इनमें भोलेनाथ, नंदीश्वर, रुद्र और महाकाल भी शामिल हैं। इस शाखा के अनुयायी शिव के भक्त होते हैं और उन्हें तपस्या और ध्यान की शिक्षा दी जाती है।

शाक्त

शाक्त शाखा सनातन धर्म की एक और प्रमुख शाखा है। इस शाखा के अनुयायी देवी को अपने ईश्वर के रूप में मानते हैं। इनमें दुर्गा, काली, लक्ष्मी और सरस्वती भी शामिल हैं। इस शाखा के अनुयायी देवी के भक्त होते हैं और उन्हें शक्ति और साधना की शिक्षा दी जाती है।

स्मार्त

इसमें सामान्य रूप से ब्रह्मा, विष्णु, और शिव की पूजा की जाती है। इस शाखा में शंकर सम्प्रदाय शामिल है।

आर्य समाज

इस सम्प्रदाय में वेदों और उपनिषदों के अध्ययन का महत्व दिया जाता है।

इसे भी पढ़ें:  भगवान के भजन का महत्व (Bhagwan ke Bhajan ka Mahatva)

सनातन धर्म की विशेषताएं -Sanatan Dharm Ki Visheshtayen

संस्कृति

सनातन धर्म एक विशाल संस्कृति का हिस्सा है जो भारत के अनेक भागों में फैली हुई है। इसमें भारतीय संस्कृति के अधिकांश तत्व शामिल होते हैं, जिसमें वस्तुत: धर्म, भाषा, संगीत, कला, शास्त्र आदि शामिल हैं। सनातन धर्म की संस्कृति विश्व की सबसे प्राचीन संस्कृतियों में से एक है जो अब तक जीवित है।

ध्यान

सनातन धर्म में ध्यान एक महत्वपूर्ण भाग है। ध्यान के माध्यम से व्यक्ति अपने मन को शांत करता है और अपने आत्मा से जुड़ता है। यह उसे अपने आसपास के सभी चीजों को एक संगीत और एकता के साथ देखने की क्षमता देता है। ध्यान के अभ्यास से व्यक्ति अपनी भावनाओं को नियंत्रित करता है और अपने जीवन में शांति और संतुष्टि प्राप्त करता है।

योग

सनातन धर्म में योग एक महत्वपूर्ण भाग है जो शरीर, मन और आत्मा को संतुलित बनाने में मदद करता है। योग के माध्यम से व्यक्ति अपने मन को शांत करता है और अपने शरीर को स्वस्थ रखता है। इसके अलावा, योग व्यक्ति को अपने आत्मा से जोड़ता है और उसे उसके असीमित शक्ति के बारे में जागरूक करता है।

वेद

वेद भारतीय धर्म की प्राचीन श्रुति साहित्य हैं। इनमें ब्रह्म, यजुर्वेद, सामवेद और अथर्ववेद शामिल हैं। इनके अलावा उपनिषद भी वेदों के अंतर्गत होते हैं।

वेदों में ज्ञान, यज्ञ, धर्म, उपासना, आध्यात्मिकता, नृत्य, संगीत, शिक्षा और जीवन के अन्य पहलुओं का वर्णन है। इनमें अनेक देवताओं और देवीयों की महिमा, मंत्रों का उच्चारण और विविध यज्ञों का विवरण भी होता है।

वेदों का विस्तृत और गहन विषय वर्ग उनकी शब्दावली और संकलन की अद्भुतता है। इनमें दी गई ज्ञान की महत्ता आज भी अधिक बनी हुई है और वे भारतीय संस्कृति के आधारभूत स्तंभ हैं।

सनातन धर्म का महत्व -Sanatan Dharm Ka Mahatva

सनातन धर्म एक बहुत ही महत्वपूर्ण धर्म है जो भारतीय सभ्यता के जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह धर्म अनेक तत्वों से मिलकर बना होता है जो भारतीय संस्कृति के मूल तत्वों से जुड़े हुए हैं।

इस धर्म का महत्व उसके मूल तत्वों में होता है जो सत्य, अहिंसा, दया, क्षमा, दान, जप, तप, यम-नियम आदि हैं। ये तत्व हमारे जीवन में एक सकारात्मक बदलाव लाते हैं जो हमें अधिक समझदार, सद्भावनापूर्ण और समझदार बनाते हैं।

सनातन धर्म का एक और महत्वपूर्ण तत्व है उसकी शास्त्रों में छिपी ज्ञान और विज्ञान। इन शास्त्रों में छिपा हुआ ज्ञान हमें अपने जीवन के हर क्षेत्र में मदद करता है। इसके अलावा, सनातन धर्म एक ऐसा धर्म है जो सभी लोगों के लिए है। यह धर्म किसी एक व्यक्ति या समुदाय के लिए नहीं है, बल्कि यह सभी के लिए है।

63 thoughts on “सनातन धर्म क्या है (Sanatan Dharm Kya Hai) जानिए इस शब्द का व्यापक मतलब

  1. I consider something genuinely interesting about your web site so I saved to my bookmarks.

  2. I’ve been browsing on-line greater than three hours lately, but I never found any interesting article like yours. It is pretty worth enough for me. Personally, if all webmasters and bloggers made good content material as you did, the internet might be a lot more useful than ever before.

  3. I like this website so much, saved to favorites. “American soldiers must be turned into lambs and eating them is tolerated.” by Muammar Qaddafi.

  4. I’ll right away snatch your rss feed as I can’t to find your e-mail subscription hyperlink or e-newsletter service. Do you have any? Please allow me know in order that I may just subscribe. Thanks.

  5. Howdy this is kinda of off topic but I was wondering if blogs use WYSIWYG editors or if you have to manually code with HTML. I’m starting a blog soon but have no coding know-how so I wanted to get advice from someone with experience. Any help would be enormously appreciated!

  6. Spot on with this write-up, I really suppose this web site wants way more consideration. I’ll probably be once more to read far more, thanks for that info.

  7. Hiya very cool web site!! Guy .. Beautiful .. Wonderful .. I will bookmark your web site and take the feeds alsoKI’m happy to search out so many useful info here in the post, we need work out extra strategies in this regard, thank you for sharing. . . . . .

  8. I wish to express my thanks to you just for rescuing me from this type of incident. Right after surfing around throughout the world wide web and coming across basics which are not beneficial, I assumed my life was done. Being alive minus the solutions to the difficulties you have solved by means of the site is a crucial case, as well as the ones which may have badly affected my career if I had not come across the website. Your primary competence and kindness in touching a lot of stuff was crucial. I am not sure what I would have done if I had not come across such a thing like this. I’m able to at this point look ahead to my future. Thanks so much for the specialized and effective guide. I won’t be reluctant to refer your web site to any person who will need guidance about this matter.

  9. I think this internet site has got some very great info for everyone. “A sense of share is not a bad moral compass.” by Colin.

  10. Way cool, some valid points! I appreciate you making this article available, the rest of the site is also high quality. Have a fun.

  11. Renew: An Overview. Renew is a dietary supplement formulated to aid in the weight loss process by enhancing the body’s regenerative functions

  12. Perfectly composed written content, Really enjoyed looking at.

  13. What Is LeanBiome? LeanBiome, a new weight loss solution, includes beneficial strains of gut bacteria that work fast for weight loss.

  14. What is Gluco6 Supplement? Gluco6 is a blend of doctor-formulated ingredients promising to help users develop healthy blood sugar ranges.

  15. Hello, you used to write wonderful, but the last few posts have been kinda boring?K I miss your super writings. Past several posts are just a little bit out of track! come on!

  16. Heya this is kinda of off topic but I was wanting to know if blogs use WYSIWYG editors or if you have to manually code with HTML. I’m starting a blog soon but have no coding expertise so I wanted to get guidance from someone with experience. Any help would be greatly appreciated!

  17. F*ckin’ remarkable issues here. I’m very glad to see your article. Thanks a lot and i’m looking forward to touch you. Will you kindly drop me a e-mail?

  18. I think this is among the most significant information for me. And i’m glad reading your article. But wanna remark on few general things, The site style is perfect, the articles is really excellent : D. Good job, cheers

  19. What Is Sugar Defender Supplement? Sugar Defender is a plant-based supplement and it helps to regulate the blood sugar levels in the body.

  20. Thanks for all your valuable effort on this site. My aunt delights in going through internet research and it’s really obvious why. Almost all learn all of the compelling means you make valuable tips and hints by means of this web site and in addition invigorate contribution from other individuals on that point and our own daughter is actually discovering a lot. Take advantage of the remaining portion of the new year. You are always performing a superb job.

  21. I haven¦t checked in here for some time since I thought it was getting boring, but the last few posts are good quality so I guess I¦ll add you back to my daily bloglist. You deserve it my friend 🙂

  22. I have been exploring for a little bit for any high quality articles or blog posts in this sort of area . Exploring in Yahoo I finally stumbled upon this site. Reading this info So i am glad to express that I’ve an incredibly excellent uncanny feeling I came upon exactly what I needed. I most definitely will make certain to don?¦t disregard this site and give it a glance on a continuing basis.

  23. Greetings! Very helpful advice on this article! It is the little changes that make the biggest changes. Thanks a lot for sharing!

  24. Thank you for some other informative blog. Where else may just I am getting that kind of info written in such an ideal approach? I have a venture that I’m simply now operating on, and I have been on the look out for such info.

  25. Simply wanna state that this is very useful, Thanks for taking your time to write this.

  26. hi!,I like your writing so much! share we communicate more about your article on AOL? I need a specialist on this area to solve my problem. Maybe that’s you! Looking forward to see you.

  27. I’m usually to running a blog and i actually admire your content. The article has really peaks my interest. I’m going to bookmark your web site and hold checking for brand spanking new information.

  28. I’m still learning from you, while I’m improving myself. I definitely liked reading everything that is posted on your blog.Keep the aarticles coming. I loved it!

  29. We’re a bunch of volunteers and starting a brand new scheme in our community. Your website provided us with helpful information to work on. You have performed a formidable process and our entire community might be grateful to you.

  30. Just wanna tell that this is very helpful, Thanks for taking your time to write this.

  31. Lottery Defeater Software: What is it? Lottery Defeater Software is a completely automated plug-and-play lottery-winning software. The Lottery Defeater software was developed by Kenneth.

  32. I cling on to listening to the rumor speak about receiving free online grant applications so I have been looking around for the most excellent site to get one. Could you tell me please, where could i acquire some?

  33. I like what you guys are up also. Such clever work and reporting! Keep up the superb works guys I have incorporated you guys to my blogroll. I think it will improve the value of my web site 🙂

  34. What is Lottery Defeater Software? Lottery Defeater Software is a plug-and-play Lottery Winning Software that is fully automated. Kenneth created the Lottery Defeater software. Every time someone plays the lottery, it increases their odds of winning by around 98.

  35. Valuable information. Lucky me I found your website by accident, and I am shocked why this accident did not happened earlier! I bookmarked it.

  36. As I website possessor I believe the content matter here is rattling excellent , appreciate it for your hard work. You should keep it up forever! Good Luck.

  37. The next time I read a blog, I hope that it doesnt disappoint me as much as this one. I mean, I know it was my choice to read, but I actually thought youd have something interesting to say. All I hear is a bunch of whining about something that you could fix if you werent too busy looking for attention.

  38. Pretty nice post. I just stumbled upon your blog and wanted to mention that I have truly enjoyed browsing your blog posts. In any case I’ll be subscribing for your feed and I am hoping you write once more very soon!

  39. Good write-up, I’m normal visitor of one’s site, maintain up the nice operate, and It is going to be a regular visitor for a lengthy time.

  40. I have been reading out a few of your stories and i must say nice stuff. I will surely bookmark your site.

  41. Great awesome issues here. I?¦m very glad to look your article. Thank you so much and i’m looking ahead to touch you. Will you please drop me a e-mail?

  42. It is perfect time to make a few plans for the longer term and it is time to be happy. I’ve read this submit and if I may I want to recommend you some fascinating issues or suggestions. Perhaps you can write subsequent articles referring to this article. I want to read even more things approximately it!

  43. Attractive section of content. I just stumbled upon your website and in accession capital to assert that I get actually enjoyed account your blog posts. Any way I’ll be subscribing to your feeds and even I achievement you access consistently fast.

  44. You could certainly see your enthusiasm within the paintings you write. The arena hopes for even more passionate writers such as you who are not afraid to mention how they believe. At all times follow your heart.

  45. A person essentially help to make seriously articles I would state. This is the first time I frequented your website page and thus far? I surprised with the research you made to make this particular publish amazing. Fantastic job!

  46. Nice post. I learn something more challenging on different blogs everyday. It will always be stimulating to read content from other writers and practice a little something from their store. I’d prefer to use some with the content on my blog whether you don’t mind. Natually I’ll give you a link on your web blog. Thanks for sharing.

  47. Hi there! This post could not be written any better! Reading this post reminds me of my old room mate! He always kept chatting about this. I will forward this page to him. Fairly certain he will have a good read. Thank you for sharing!

  48. Hello there! Would you mind if I share your blog with my myspace group? There’s a lot of folks that I think would really appreciate your content. Please let me know. Thanks

  49. you are really a just right webmaster. The site loading pace is amazing. It kind of feels that you are doing any distinctive trick. Moreover, The contents are masterwork. you’ve performed a magnificent activity on this subject!

  50. Good website! I really love how it is easy on my eyes and the data are well written. I am wondering how I might be notified whenever a new post has been made. I’ve subscribed to your RSS feed which must do the trick! Have a great day!

  51. What i do not realize is in reality how you’re no longer really much more smartly-appreciated than you may be now. You are very intelligent. You recognize therefore considerably with regards to this topic, produced me for my part imagine it from numerous numerous angles. Its like men and women aren’t fascinated until it is something to do with Woman gaga! Your own stuffs outstanding. At all times deal with it up!

  52. Well I sincerely liked studying it. This tip procured by you is very constructive for proper planning.

  53. I am not sure where you’re getting your info, but good topic. I needs to spend some time learning more or understanding more. Thanks for excellent info I was looking for this information for my mission.

  54. Nice post. I used to be checking constantly this blog and I’m impressed! Extremely useful info particularly the ultimate section 🙂 I care for such info a lot. I used to be seeking this certain information for a very long time. Thank you and good luck.

  55. This is really attention-grabbing, You are an overly skilled blogger. I have joined your feed and stay up for in search of extra of your wonderful post. Additionally, I’ve shared your website in my social networks!

  56. What Is Java Burn? Java Burn is a natural health supplement that is formulated using clinically backed ingredients that promote healthy weight loss.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *