मैया मोरी मैं नहीं माखन खायो (Maiya Mori Mai Nahi Makhan Khayo)

मैया मोरी मैं नहीं माखन खायो (Maiya Mori Mai Nahi Makhan Khayo)

इस Post में आपको मैया मोरी मैं नहीं माखन खायो (Maiya Mori Mai Nahi Makhan Khayo) का हिंदी में Lyrics दिया जा रहा है और उम्मीद करता हूँ कि मैया मोरी मैं नहीं माखन खायो (Maiya Mori Mai Nahi Makhan Khayo) आपके लिए जरूर उपयोगी साबित होगा | BhajanRas Blog पे आपको सभी देवी देवताओ की आरतिया,चालीसा, व्रत कथा, नए पुराने भजन, प्रसिद्ध भजन और कथाये ,पूजन विधि, उनका महत्व, उनकी व्रत कथाये BhajanRas.com पे आप हिंदी में Lyrics पढ़ सकते हो।

मैया मोरी मैं नहीं माखन खायो

ओ मैया मोरी
मैया ओ मैया

मैया…
मोरी मैया…
ओरी मैया, धोरी मैया
साची केह रहियो तेरो कन्हैया

ओ मैया मोरी मैं नहीं माखन खायो
नहीं नहीं मैं नहीं माखन खायो
मैं नहीं माखन खायो
मैया मोरी मैं नहीं माखन खायो

जिन गोपीन की तू मानत है
वे दोहरी नित चलाये रही
मो से करवाई रही चोरी और
मो पे ही दोष लगाई रही
माखन के कारण गोकुल की
गलियन में मोहे नचाई रही

मैया मोरे सुधेपन को
सब मिलके लाभ उठाई रही

इनके पीछे चोर कहावे
इनके पीछे चोर कहावे
माँ यशोदा तेरो जायो

ओ मैया मोरी मैं नहीं माखन खायो
नहीं नहीं मैं नहीं माखन खायो

मोई चोरी इति का काम भला
बिन मांगे जब पावत हूँ
माँ तो से मिले माखन इतनो जो
खावत नहीं अघावत हूँ

मोरी अच्छी मैया मैं तोसे नहीं कोई बात छुपावत हूँ

नित ग्वालिन मुझे बुलावत हैं
मैं उनकी गलिन नहीं जावत हूँ

अच्छा! फिर तेरे मुह पे माखन कैसे लग गया रे

सब ग्वालिन मेरे बैर पड़ी हैं
जे बैरन मेरे पीछे पड़ी हैं
बरबस मुख लपटायो

ओ मैया मोरी मैं नहीं माखन खायो
नहीं नहीं मैं नहीं माखन खायो

झूठी सच्ची दे के सफाई
कान्हा ने समझायो
माँ यशोमती ने एक न मानी
माँ यशोमती ने एक न मानी
लाल को मुह न लगायो

ओ मैया मोरी मैं नहीं माखन खायो
नहीं नहीं मैं नहीं माखन खायो

One thought on “मैया मोरी मैं नहीं माखन खायो (Maiya Mori Mai Nahi Makhan Khayo)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *